संहिता के स्वास्थ्य शिक्षा कार्यक्रम में आपका स्वागत है ।

भारत के विभिन्न भागों में गरीब समुदायों के लिए उपलब्ध सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं के व्यापक अनुभव के बाद यह तथ्य सामने आयें हैं :

  1. ग्रामीण क्षेत्रों में, विशेषकर दूरदराज के क्षेत्रों में, उच्च स्तर के योग्य प्रशिक्षित चिकित्सकों की कमीं सख्त है, और यह कमी निकट भविष्य में पूरा होने की सम्भावना कम है ।
  2. ग्रामीण भारत के अधिकांश स्वास्थ्य समस्याएँ कुछ संक्रामक रोगों और अस्वास्थ्यकर व्यवहार से संबंधित हैं ।

वर्ष २००२ में हमारे सहयोगी रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वाराणसी के स्वास्थ्य संवर्धन कार्यक्रम ने अपने मल्टीमीडिया प्रयोगशाला में हिन्दी भाषा में, स्वास्थ्य संबंधी विभिन्न विषयों पर आधे घंटे की फिल्मों की एक श्रृंखला का निर्माण किया । यह फिल्में मनोरंजक और शिक्षाप्रद हो इस लिए इन्हें कार्टून एनिमेशन, वीडियो और विशेष प्रभाव द्वारा बनाया गया, जिससे अनपढ़ दर्शकों की रुची बने रहे और वे फिल्म के माध्यम से बताये जाने वाले बीमारी के कारण, पहचान, उपचार और रोकथाम को समझ सकें । इन फिल्मों के निर्माण के बाद इनके माध्यम से एक उच्चकोटि का प्रसार अभियान किया गया, जिसमें प्रशिक्षित स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा घर घर जाकर जानकारी वितरण करने के साथ साथ स्वास्थ्य पर प्रश्न-उत्तर सत्र, सत्रों के सारांश पत्र, घर पर अभ्यास, प्रतियोगिताओं, वीडियो लॉगिंग और गहन कार्यशालाओं का उपयोग किया गया । इस कार्यक्रम के लिए बनाये गए सभी संसाधन स्वास्थ्य से जुड़े १२ अलग अलग विषयों पर हैं । इस कार्यक्रम के तहत अब तक ४,००,००० से भी अधिक छात्रों और ग्रामीणों ने स्वास्थ्य के विभिन्न विषयों पर जागरूकता प्राप्त किया है ।

संहिता ने वर्ष २००९ में अपने स्वास्थ्य कार्यक्रम का शुभारम्भ स्वास्थ्य शिक्षा की पहल के साथ किया । अब तक यह कार्यक्रम रीवा और उसके आसपास के जिलों के गाँव और विद्यालयों तक केन्द्रित है और ३५,००० से अधिक व्यक्तियों ने इसके अंतर्गत २ विषयों में भाग लिया है - तंबाकू व्यसन मुक्ति, और शिशु स्वास्थ्य । संहिता ने संहिता माइक्रोफाइनांस के केंद्र अध्यक्षों के लिए भी महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़े विषयों पर कार्यशालाओं का आयोजन किया है ।

sDevNet.org webPortal v2.0 © 2011 eCubeH Research Labs + Acknowledgements