संहिता मैक्रोफिनांस आपका स्वागत करती है ।

संहिता माईक्रोफाईनांस कार्यक्रम संहिता के सभी आर्थिक कार्यक्रमों में से प्रवेश स्तर की पहल है । यह कार्यक्रम विशेष रूप से मध्य भारत के दूरदराज के क्षेत्रों में बसे गरीब से गरीब लोगों को वित्तीय समावेशन की सेवाओं से जोडती है ।

संहिता माईक्रोफाईनांस ने अपने ग्रामीण कार्यक्रम का आरम्भ मध्य प्रदेश के रीवा जिले से दिसम्बर २००७ में किया । सामानांतर रूप से एक शहरी माईक्रोफाईनांस कार्यक्रम का आरम्भ भोपाल के मलिन बस्तिओं में फ़रवरी २००८ को किया गया ।

संहिता मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ और बिहार के 35 ज़िलों में माईक्रोफाईनांस की सेवाएँ प्रदान कर रही है । माईक्रोफाईनांस कार्यक्रम के वर्तमान के आंकड़े नीचे तालिका में दिए गए हैं । संहिता ने अपने सदस्यों के लिए एक गहन आर्थिक साक्षरता अभियान भी चलाया है ।

सूचक July 31, 2018
सदस्य 96,405
केंद्र 13,798
शाखाएँ 92
जिलें 35
कर्मचारी 396
बकाया ऋण वितरण संविभाग Rs. 150.45 Crores
कुल ऋण वितरण Rs. 1,097.98 Crores
ऋण वितरण संविभाग जो जोखिम में है 0.63 %

 

एनपीएस - स्वावलंबन की जानकारी

दिनांक 30/06/2018 तक 24,351 सब्सक्राइबर्स को जोड़ा गया एवं वित्तीय वर्ष 2018-19 की अवधि में 71 सब्सक्राइबर्स से अंशदान प्राप्त हुआ|

sDevNet.org webPortal v2.0 © 2011 eCubeH Research Labs + Acknowledgements