निर्देशक मंडल

संस्थापक:

प्रसीदा कूनम संहिता कम्यूनिटी डेवलपमेंट सर्विसेज की संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी हैं । इन्हें माइक्रोफायनांस, वित्तीय साक्षरता के क्षेत्र में तथा सूक्ष्म और लघु उद्योगों के सलाहकार के रूप में 16 वर्षों का अनुभव है। प्रसीदा ने एम.बी.ए करने के अतिरिक्त सेंट लुईस के वाशिंग्टन विश्वविद्यालय से इनफार्मेशन मैनेजमेंट में स्नातकोत्तर किया एवं सेंट ऐंस् महाविद्यालय हैदराबाद से इकोनॉमिक्स में स्नातक किया है ।

बालचंद्र कृष्णमूर्ति संहिता कम्यूनिटी डेवलपमेंट सर्विसेज के संस्थापक हैं। बाला ने संयुक्त राष्ट्र के कार्पोरेट क्षेत्र में मैककिंसे एंड कंपनी ( शिकागो ), ज़ैकस इन्वेस्टमेंट रिसर्च ( शिकागो ) एवं वेलिंगटन मैनेजमेंट कंपनी ( बोस्टन ) जैसे संस्थानों के कॉर्पोरेट फाइनांस, इन्वेस्टमेंट रिसर्च और इन्वेस्टमेंट सॉफ्टवेर के क्षेत्र मैं 10 वर्षों तक कार्य किया है। बाला विगत 16 वर्षों से भारत के ग्रामीण विकास के क्षेत्र में कार्यरत हैं, जिसमे रामकृष्ण सेवाश्रम, वाराणसी के एक स्वास्थ्य संवर्धन कार्यक्रम के सलाहकार के रूप में सेवाएं प्रदान करने के साथ-साथ एसकेएस माइक्रोफायनांस, हैदराबाद और कैशपोर माइक्रोक्रेडिट, वाराणसी के बहु प्रसंशित एवम पुरस्कृत माइक्रोफायनांस टेक्नोलॉजी सोल्युशन्स का निर्माण किया है। बाला ने आई.आई.टी दिल्ली से प्रौद्योगिकी में स्नातक ( मैकेनिकल इंजीनियरिंग ), वर्जीनिया टेक से एम.एस ( कमप्युटर साईंस ), एवं एम.बी.ए ( वित्त ) शिकागो विश्वविद्यालय से किया है ।

बोर्ड के स्वतंत्र सदस्य:

प्रोफेसर पी.के.बिस्वास ने भारत और विदेश में कई संस्थानों में शोध एवं नेतृत्व किया है । वह अभी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी (आई एम टी), गाजियाबाद में डीन एकेडेमिक्स के रूप में सेवारत हैं । इससे पहले वह : स्काईलाइन विश्वविद्यालय, नाइजीरिया में कुलपति; इंस्टिट्यूट फॉर फाइनेंसियल मैनेजमेंट & रिसर्च (आई एफ एम आर), चेन्नई में निदेशक; और लाल बहादुर शास्त्री इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट (एल बी एस आई एम), नई दिल्ली में निदेशक के रूप में अपनी सेवायें दे चुके हैं । श्री बिस्वास ने अपने कार्य का आरम्भ भोपाल स्थित इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ फारेस्ट मैनेजमेंट में प्राध्यापक के रूप में की जहाँ पर उन्होंने 20 से अधिक वर्षों तक शिक्षा प्रदान की । उन्होंने दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से समाजशास्त्र में डॉक्टरेट की पढ़ाई पूरी की । श्री बिस्वास विभिन्न सामाजिक विकास और सरकारी प्रशासनिक नेटवर्क में सक्रिय रूप से शामिल हैं ।

श्री ज्येफ्फ़ वूल्ली, डोमिनियन वेंचर्स इन्कॉर्परेशन के सहयोगी संस्थापक हैं, जिसकी स्थापना उन्होंने 1985 में की । इसके साथ साथ वह यूरोपियन वेंचर पार्टनर्स और एमएसीसी प्राइवेट इक्विटी के अध्यक्ष है । 25 से अधिक वर्षों से ज्येफ्फ 300 से अधिक उभरती कंपनियों को वित्तपोषण करने से जुड़े हैं उन कंपनियों मैं सिएना, कोइनस्टार, हॉटमेल और ह्युमन जीनोम साइन्स जैसी कम्पनियाँ सम्मिलित हैं, 1.5 अरब डॉलर से अधिक की कुल सम्पति का प्रबंधन करते हुए । उनकी गैर लाभकारी क्षेत्र में अनुभव नेम्स प्रोजेक्ट फाउंडेशन ( एड्स मेमोरियल क्विल्ट ) के संस्थापक अध्यक्ष के रूप में, और समाज सेवा संस्थानों के साथ कार्य करते हुए कमजोर और सुविधाओं से वंचित लोगों को सशक्त बनाने में है । वह यूटाह विश्वविद्यालय के यूनिवर्सिटी वेंचर फंड, जो कि देश के सबसे बड़े और छात्रों के नेतृत्व में चलाये जाने वाली सबसे सफल वेंचर फंड है, उसके स्थापक व मुख्य अध्यक्ष हैं । ज्येफ्फ ने ब्रिघम यंग विश्वविद्यालय से व्यवसाय प्रबंधन में बी.एस और यूटाह विश्वविद्यालय से एमबीए किया है ।

श्री संजीव आनंद, इंडसइंड बैंक के नामित निर्देशक हैं, वे भारत में इंडसइंड बैंक के वाणिज्यिक बैंकिंग के प्रमुख और वाणिज्यिक एवं कॉर्पोरेट बैंकिंग के उप-प्रमुख हैं। वह एस एम ई बैंकिंग, मिड-मार्किट कॉरपोरेट्स, सप्लाई चैन फाइनेंस, वित्तीय समावेशन, प्रायोरिटी सेक्टर और कॉरपोरेट एग्री बिज़नेस क्षेत्रों के विकास के लिए रणनीति बनाने और व्यापार बढ़ाने में शामिल है। इंडसइंड बैंक से पहले वह ए बी एन एमरो में वाणिज्यिक बैंकिंग प्रमुख थे जहां उन्होंने एस एम ई वर्टिकल की स्थापना की। उन्होंने आई आई टी रुड़की से इंजीनियरिंग में स्नातक और मैकगिल विश्वविद्यालय, मॉन्ट्रियल, कनाडा से एम बी ए किया है। वह 27 वर्षों के कार्य अनुभव के साथ एक अनुभवी कॉर्पोरेट बैंकर हैं। संजीव एक नियमित स्क्वैश खिलाड़ी है, उन्होंने 40 वर्ष से अधिक की श्रेणी में राष्ट्रीय पुरुष स्क्वैश खिताब जीता है, और दिल्ली स्टेट स्क्वैश टीम का प्रतिनिधित्व किया है।